Kagaz

मेरे रोने की हकीकत जिस में थी
एक मुद्दत तक वो क़ाग़ज़ नम रहा

Posted by | View Post | View Group

Gham

ग़म रहा जब तक कि दम में दम रहा
दिल के जाने का निहायत ग़म रहा 

Posted by | View Post | View Group

Aankhe

‘मीर’ उन नीमबाज़ आँखों में,
सारी मस्ती शराब की सी है ।

Posted by | View Post | View Group

Lub

नाज़ुकी उस के लब की क्या कहिए,
हर एक पंखुड़ी गुलाब की सी है । 

Posted by | View Post | View Group

Afsaana

मुहब्बत में मेरी बर्बादी का भी बड़ा अजीब अफसाना था….
दिल के टुकडे-टुकड़े हो गये और लोगों ने कहा वाह क्या निशाना था

Posted by | View Post | View Group

Afsaana

मुहब्बत में मेरी बर्बादी का भी बड़ा अजीब अफसाना था….
दिल के टुकडे-टुकड़े हो गये और लोगों ने कहा वाह क्या निशाना था

Posted by | View Post | View Group

Taareef

कुछ आप हसीन है कुछ मौसम रंगीन है…..
तारीफ करूँ या चुप रहूँ , जुर्म दोनो संगीन है !!

Posted by | View Post | View Group

Bewafa

मिल ही जाएगा हम को भी कोई ना कोई टूट के चाहने वाला..
अब शहर का शहर तो बेवफा नही होता….

Posted by | View Post | View Group