किसमे हिम्मत है… इस राइड पर जाने की कमेंट में…

किसमे हिम्मत है… इस राइड पर जाने की कमेंट में लिखो?

Posted by | View Post | View Group

संसार मे सभी छोटी बडी समस्याओ का समाधान सकारात्मक चिंतन…

संसार मे सभी छोटी बडी समस्याओ का समाधान सकारात्मक चिंतन मे है।वास्तव मे समस्याएं और विघ्न कमजोर मन की रचना है जिसका मन शक्तिशाली है सकारात्मक है ,उसको पहाड जैसी परिस्थिति भी रुई से भी हल्कि प्रतीत होती है ।

Posted by | View Post | View Group

आँखों ही आँखों में, चाहत की बातों में जाने क्यों…

आँखों ही आँखों में, चाहत की बातों में
जाने क्यों दिल की तमन्ना जगी
ख़ामोश रातों में, उलझी सी साँसों में
जाने क्यूँ दिल की ये शम्मा जली

पलकों ने बाँधा था सपना कोई
उल्फ़त ले आया था अपना कोई
ख़ुशियों की राहों में, मीठी सी यादों में
जाने क्यूँ दिल की तमन्ना जगी
ख़ामोश रातों में, उलझी सी साँसों में
जाने क्यों दिल की ये शम्मा जली

वो रूबरू थे मेरे हमसफ़र
उनकी निग़ाहों का था ये असर
जागी सी रातों में सोई सी आँखों में
जाने क्यूँ दिल की तमन्ना जगी
ख़ामोश रातों में, उलझी सी साँसों में
जाने क्यूँ दिल की ये शम्मा जली

लब ना खुले और दिल मिल गए
बरसों से बिछड़े वो पल मिल गए
महकी फ़ज़ाओं में,चहकी हवाओं में
जाने क्यूँ दिल की तमन्ना जगी
ख़ामोश रातों में, उलझी सी साँसों में
जाने क्यूँ दिल की ये शम्मा जली

आँखों ही आँखों में, चाहत की बातों में
जाने क्यों दिल की तमन्ना जगी
ख़ामोश रातों में, उलझी सी साँसों में
जाने क्यूँ दिल की ये शम्मा जली

Posted by | View Post | View Group

करेगा ज़माना भी हमारी कदर एक दिन , बस ये…

करेगा ज़माना भी हमारी कदर एक दिन ,
बस ये महोब्बत की आदत छूट जाने दो..!!

Posted by | View Post | View Group

रंगो का त्यौहार होली की आप सभी दोस्तों को शुभकामनाएँ।

रंगो का त्यौहार होली की आप सभी दोस्तों को शुभकामनाएँ।

Posted by | View Post | View Group

किसी की चाहत का रंग चढ़ा है मुझ पर..वो उतरे…

किसी की चाहत का रंग चढ़ा है मुझ पर..वो उतरे तो खेलूं होली.,
दिल सिर्फ उसे ढूंढे जो नहीं दिखता…कहने को आई है पूरी टोली..!!

Posted by | View Post | View Group

#शहीददिवस पर भारत माँ के वीर सपूतों भगत सिंह, राजगुरु…

#शहीददिवस पर भारत माँ के वीर सपूतों भगत
सिंह, राजगुरु व सुखदेव को शत शत नमन।

#भारत_माता_की_जय

Posted by | View Post | View Group

जरुरी नही की मिठाई खिलाकर दूसरों का मुह़ मीठा करे…

जरुरी नही की मिठाई खिलाकर दूसरों
का मुह़ मीठा करे ..
आप मीठा बोल कर भी लोगो को
खुशियाँ दे सकते है …!!

Posted by | View Post | View Group

Hizr ki pehli shaam ke saaye door uphaq tak chaaye the

हिज्र की पहली शाम के साये दूर उफ़क़ तक छाये थे
हम जब उसके शहर से निकले सब रास्ते सँवलाये थे

जाने वो क्या सोच रहा था अपने दिल में सारी रात
प्यार की बातें करते करते उस के नैन भर आये थे

मेरे अन्दर चली थी आँधी ठीक उसी दिन पतझड़ की
जिस दिन अपने जूड़े में उसने कुछ फूल सजाये थे

उसने कितने प्यार से अपना कुफ़्र दिया नज़राने में
हम अपने ईमान का सौदा जिससे करने आये थे

कैसे जाती मेरे बदन से बीते लम्हों की ख़ुश्बू
ख़्वाबों की उस बस्ती में कुछ फूल मेरे हम-साये थे

कैसा प्यारा मंज़र था जब देख के अपने साथी को
पेड़ पे बैठी इक चिड़िया ने अपने पर फैलाये थे

रुख़्सत के दिन भीगी आँखों उसका वो कहना हाए “क़तील”
तुम को लौट ही जाना था तो इस नगरी क्यूँ आये थे

Qateel shifai

Posted by | View Post | View Group