तुम्हीं पे मरता है ये दिल, अदावत क्यों नहीं करता…

तुम्हीं पे मरता है ये दिल, अदावत क्यों नहीं करता
कई जन्मों से बंदी है, बगावत क्यों नहीं करता
कभी तुमसे थी जो, वो ही शिकायत है ज़माने से
मेरी तारीफ़ करता है, मुहब्बत क्यों नहीं करता..!!

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

“ठोकरें ख़ाता हूँ पर, “शान” से चलता हूँ। मैं खुले…

“ठोकरें ख़ाता हूँ पर,
“शान” से चलता हूँ।
मैं खुले आसमान के नीचे,
सीना तान के चलता हूँ।
मुश्किलें तो “साज़” हैं ज़िंदगी का,
“आने दो-आने दो”।
उठूंगा, गिरूंगा फिर उठूंगा
और
आखिर में “जीतूंगा मैं ही”
ये ठान के चलता हूँ!”

Posted by | View Post | View Group

खुद को मेरे दिल में ही छोड़ गए हो तुम,…

खुद को मेरे दिल में ही छोड़ गए हो तुम,
तुम्हे तो ठीक से बिछड़ना भी नही आता.!!

Posted by | View Post | View Group

विकारों से (काम , क्रोध , मोह , लोभ ,…

विकारों से (काम , क्रोध , मोह , लोभ , अहंकार) पाया हुआ सुख अस्थायी होता है।फिर ऐसे क्षणिक सुख की कामना ही क्यो करे ,और ऐसे विनाशी सुख की इच्छा ही आगेे के दुखों का कारण बनती है।

Posted by | View Post | View Group

रिश्तो में जब झूठ …

रिश्तो में जब झूठ बोलने की आवश्यकता महसूस होने लगे,
तब यह समझना की अब रिश्ता समाप्ति की ओर है..

रिश्तो में जब झूठ बोलने की आवश्यकता महसूस होने लगे,
तब यह समझना की अब रिश्ता समाप्ति की ओर है..

Posted by | View Post | View Group

कांटो से बच बच के …

कांटो से बच बच के चलता रहा उम्र भर…
क्या खबर थी की चोट एक फूल से लग जायेगी

कांटो से बच बच के चलता रहा उम्र भर…
क्या खबर थी की चोट एक फूल से लग जायेगी

Posted by | View Post | View Group

मेरे जाने के बाद …

मेरे जाने के बाद मेरी यही आदत सब को सदा याद रहेगी,
न शिकवा, न कोई गिला, जिस से भी मिला, मुस्कुरा के मिला..

मेरे जाने के बाद मेरी यही आदत सब को सदा याद रहेगी,
न शिकवा, न कोई गिला, जिस से भी मिला, मुस्कुरा के मिला..

Posted by | View Post | View Group

यहाँ मज़बूत से …

यहाँ मज़बूत से मज़बूत लोहा टूट जाता है..
कई झूठे इकट्ठे हों तो सच्चा टूट जाता है..

यहाँ मज़बूत से मज़बूत लोहा टूट जाता है..
कई झूठे इकट्ठे हों तो सच्चा टूट जाता है..

Posted by | View Post | View Group

ये रिहाई मुझे नहीं …

ये रिहाई मुझे नहीं मंज़ूर…
अपने दिल से मत निकाल मुझे।

ये रिहाई मुझे नहीं मंज़ूर…
अपने दिल से मत निकाल मुझे।

Posted by | View Post | View Group

जिन्हें गुस्सा आता …

जिन्हें गुस्सा आता है वो लोग सच्चे होते हैं ,
मैंने झूठों को अक्सर मुस्कुराते हुए देखा है..

जिन्हें गुस्सा आता है वो लोग सच्चे होते हैं ,
मैंने झूठों को अक्सर मुस्कुराते हुए देखा है..

Posted by | View Post | View Group