Ghar

घर सजाने का तस्सवुर तो बहुत बाद का है 
पहले ये तय हो कि इस घर को बचायें कैसे 

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Tasavvur

जब तस्सवुर मेरा चुपके से तुझे छू आए
देर तक अपने बदन से तेरी खुशबू आए॥

Posted by | View Post | View Group