वो मुझको #रोज़ कहती …

वो मुझको #रोज़ कहती थी
मुझे #चाँद ला कर दो

उसे एक #आईना दे कर
अकेला #छोड़ आया हूँ…#R3han

वो मुझको #रोज़ कहती थी
मुझे #चाँद ला कर दो

उसे एक #आईना दे कर
अकेला #छोड़ आया हूँ…#R3han

Posted by | View Post | View Group

सजा मे तुम मिलोगे …

सजा मे तुम मिलोगे तो बोलो…!!!

गुनाह कुबुल कर लूँ…#R3han

सजा मे तुम मिलोगे तो बोलो…!!!

गुनाह कुबुल कर लूँ…#R3han

Posted by | View Post | View Group

“जाने क्यों मेरी …

“जाने क्यों मेरी #नींदों के, हाथ नहीं #पीले होते..

पलकों से लौटी हैं कितने, सपनों की #बारातें, सच…#R3han

“जाने क्यों मेरी #नींदों के, हाथ नहीं #पीले होते..

पलकों से लौटी हैं कितने, सपनों की #बारातें, सच…#R3han

Posted by | View Post | View Group

Dedicated to this time political ……. …

Dedicated to this time political …….

जंगल रोज सिकुड़ रहा था,
फिर भी सारे पेड़
कुल्हाड़ी को ही वोट दे रहे थे,
वो ये समझते थे की…

कुल्हाड़ी में लगी लकड़ी
उनकी जात की है!!!!

#R3han

Dedicated to this time political …….

जंगल रोज सिकुड़ रहा था,
फिर भी सारे पेड़
कुल्हाड़ी को ही वोट दे रहे थे,
वो ये समझते थे की…

कुल्हाड़ी में लगी लकड़ी
उनकी जात की है!!!!

#R3han

Posted by | View Post | View Group