Patthar

तू भी हीरे से बन गया पत्थर
हम भी कल जाने क्या से क्या हो जाएँ

Posted by | View Post | View Group

Dil

ये दिल लेते ही शीशे की तरह पत्थर पे दे मारा, 
मैं कहता रह गया ज़ालिम मेरा दिल है, मेरा दिल है । 

Posted by | View Post | View Group

Patthar

पत्थर मुझे कहता है मेरा चाहने वाला
मैं मोम हूँ उसने मुझे छूकर नहीं देखा

Posted by | View Post | View Group

Patthar

लोग मुन्तज़िर ही रहे कि हमें टूटा हुआ देखें..
और हम थे कि सहते-सहते पत्थर के हो गए….

Posted by | View Post | View Group