Gulab

J

Advertisements

सोच रहा हूँ मर ही जाऊ आज…

शायद कब्र पर ही कोई गुलाब ले आये…!

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Gulab

J

सोच रहा हूँ मर ही जाऊ आज…

शायद कब्र पर ही कोई गुलाब ले आये…!

Posted by | View Post | View Group

Mehndi

हथेलियों पर मेहँदी का ज़ोर ना डालिये,
दब के मर जाएँगी मेरे नाम कि लकीरें…

Posted by | View Post | View Group

Janaza

जनाजा मेरा देखकर….बोली वो….!!
वो ही मरा क्या, जो मुझ पर मरता था….!!!

Posted by | View Post | View Group

Bewafai

जिसकी मुहब्बत में मरने के लिए तैयार थे हम
आज उसी की बेवफाई ने हमे जीना सीखा दिया

Posted by | View Post | View Group

Niwala

एक निवाले के लिए मैंने जिसे मार दिया,

वह परिन्दा भी कई दिन का भूखा निकला ।

Posted by | View Post | View Group

Patanga

बेसबब इश्क़ में मरना मुझे मंज़ूर नहीं
शमा तो चाह रही है कि पतंगा हो जाऊँ

Posted by | View Post | View Group

Muhabbat

ये मोहब्बत है, सुन, ज़माने, सुन!
इतनी आसानियों से मरती नहीं

Posted by | View Post | View Group

Farmaana

मैं जो कहता हूँ कि मरता हूँ तो फ़रमाते हैं
कारे-दुनिया न रुकेगा तेरे मर जाने से

Posted by | View Post | View Group