हमने ही जल के रात को …

हमने ही जल के रात को रोशन शहर किया,
हम ही पड़े हैं सुबह को कूड़े के ढेर में…
#diya

Advertisements

हमने ही जल के रात को रोशन शहर किया,
हम ही पड़े हैं सुबह को कूड़े के ढेर में…
#diya

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Intzaar

आँखों को इंतज़ार की भट्टी पे रख दिया
मैंने दिये को आँधी की मर्ज़ी पे रख दिया

Posted by | View Post | View Group

Diya

आँधियों के इरादे तो अच्छे न थे 
ये दिया कैसे जलता हुआ रह गया

Posted by | View Post | View Group