Dhundh

आज तो मिलने चले आओ..
इतनी धुंध में भला कौन देखेगा

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Janaza

जनाजा मेरा देखकर….बोली वो….!!
वो ही मरा क्या, जो मुझ पर मरता था….!!!

Posted by | View Post | View Group

Intzaar

इंतजार तो किसी का भी नहीं है अब,
_____फिर न जाने क्यों________
पीछे पलट कर देखने की आदत गई नहीं।

Posted by | View Post | View Group

Palake

आँखों में तेरी ज़ालिम छुरियाँ छुपी हुई हैं 
देखा जिधर को तूने पलकें उठाके मारा

Posted by | View Post | View Group

Dil

लाखों में इंतिख़ाब के क़ाबिल बना दिया
जिस दिल को तुमने देख लिया दिल बना दिया

Posted by | View Post | View Group