Ishq

इश्क़ बुरी शै सही, पर दोस्तो।
दख्ल न दो तुम, मेरी हर बात में॥

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Duniya

या तो इस दुनिया के मनवाने में कोई बात थी,
या हमारी नीयत-ए-इनकार थोड़ी कम रही ।

Posted by | View Post | View Group

Gham

कौन दोहराए वो पुरानी बात
ग़म अभी सोया है जगाए कौन 

Posted by | View Post | View Group