ज़िंदा रहने का…..कुछ ऐसा ‘अन्दाज़’ रखो, जो तुमको ना समझे…..उन्हें…

ज़िंदा रहने का…..कुछ ऐसा ‘अन्दाज़’ रखो,
जो तुमको ना समझे…..उन्हें ‘नज़रंदाज’ रखो.!!

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Mom sa dil

जमाने की नजर मेँ थोडा अकड कर चलना सीख ले ऐ दोस्त
मोम जैसा दिल लेकर फिरोगे तो लोग जलाते ही रहेँगे….

Posted by | View Post | View Group

Bazm

बूए-गुल, नाला-ए-दिल, दूदे चिराग़े महफ़िल
जो तेरी बज़्म से निकला सो परीशाँ निकला।

चन्द तसवीरें-बुताँ चन्द हसीनों के ख़ुतूत,
बाद मरने के मेरे घर से यह सामाँ निकला।

Posted by | View Post | View Group

Bazm

बूए-गुल, नाला-ए-दिल, दूदे चिराग़े महफ़िल
जो तेरी बज़्म से निकला सो परीशाँ निकला।

चन्द तसवीरें-बुताँ चन्द हसीनों के ख़ुतूत,
बाद मरने के मेरे घर से यह सामाँ निकला।

Posted by | View Post | View Group

Musafir

एक मुसाफ़िर के सफ़र जैसी है सब की दुनिया
कोई जल्दी में, कोई देर से जाने वाला

Posted by | View Post | View Group

Khuda

ज़िंदगी अपनी जब इस शल्क से गुज़री ‘ग़ालिब’
हम भी क्या याद करेंगे कि ख़ुदा रखते थे

Mirza Ghalib

Posted by | View Post | View Group

Khuda

ज़िंदगी अपनी जब इस शल्क से गुज़री ‘ग़ालिब’
हम भी क्या याद करेंगे कि ख़ुदा रखते थे

Mirza Ghalib

Posted by | View Post | View Group

Tabah

मैं तबाह हूँ तेरे प्यार में और तुझे दूसरों का ख्याल है….
कुछ तो मेरे मसले पर गौर कर मेरी जिन्दगी का सवाल है…

Posted by | View Post | View Group

Adhurapan

लौट आओ वो हिस्सा लेकर, जो साथ ले गये थे तुम..

इस रिश्ते का अधूरापन अब अच्छा नही लगता….!!

Posted by | View Post | View Group