क्यों हम फिर अलग हो …

क्यों हम फिर अलग हो के यहाँ नफरत को बो रहे हैं,
हासिल नहीं कुछ होता, बस अपनों को खो रहे हैं….☝
.
SHoaiB

Advertisements

क्यों हम फिर अलग हो के यहाँ नफरत को बो रहे हैं,
हासिल नहीं कुछ होता, बस अपनों को खो रहे हैं….☝
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

किसी ने पूछा कौन …

किसी ने पूछा कौन याद आता है अक्सर तन्हाई में,
हमने कहा कुछ पुराने रास्ते, खुलती ज़ुल्फे और बस दो आँखे …★Rv

किसी ने पूछा कौन याद आता है अक्सर तन्हाई में,
हमने कहा कुछ पुराने रास्ते, खुलती ज़ुल्फे और बस दो आँखे …★Rv

Posted by | View Post | View Group

न चाहते हुए भी …

न चाहते हुए भी छोड़ना पड़ता है “साथ”…..

कुछ मजबूरियाँ महोब्बत से भी ज्यादा गहरी होती हैं…★Rv

न चाहते हुए भी छोड़ना पड़ता है “साथ”…..

कुछ मजबूरियाँ महोब्बत से भी ज्यादा गहरी होती हैं…★Rv

Posted by | View Post | View Group

ज़िंदगी कोई ग़ज़ल …

ज़िंदगी कोई ग़ज़ल सी मालूम पड़ती है,
मैं लिखता चला गया, वो गुनगुनाती रही..
.
SHoaiB

ज़िंदगी कोई ग़ज़ल सी मालूम पड़ती है,
मैं लिखता चला गया, वो गुनगुनाती रही..
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

😞”कई साल बीत चुके …

😞”कई साल बीत चुके है जिस दिन से तू छोड़ के गयी है,

दिल तो आज भी हार नहीं मान रहा है मगर अब तबियत साथ छोड़ रही है.”😞

#ऋषि

😞”कई साल बीत चुके है जिस दिन से तू छोड़ के गयी है,

दिल तो आज भी हार नहीं मान रहा है मगर अब तबियत साथ छोड़ रही है.”😞

#ऋषि

Posted by | View Post | View Group

गुलाब तो टूट कर …

गुलाब तो टूट कर बिखर जाता है; पर खुशबु हवा में बरकरार रहती है…
जाने वाले तो छोड़ के चले जाते हैं; पर एहसास तो दिलों में बरकरार रहते है…
#सचिन

गुलाब तो टूट कर बिखर जाता है; पर खुशबु हवा में बरकरार रहती है…
जाने वाले तो छोड़ के चले जाते हैं; पर एहसास तो दिलों में बरकरार रहते है…
#सचिन

Posted by | View Post | View Group

खुदखुशी करने से …

खुदखुशी करने से मुझे कोई परहेज नही है,
#babu
बस शर्त ईतनी है कि फंदा तेरी जुल्फों
का हो…

#ऋषि

खुदखुशी करने से मुझे कोई परहेज नही है,
#babu
बस शर्त ईतनी है कि फंदा तेरी जुल्फों
का हो…

#ऋषि

Posted by | View Post | View Group

कुछ फासले तुम भी तो …

कुछ फासले तुम भी तो मिटाओ….
हम तुम तक आएं भी तो कहा तक आएं !!
.
SHoaiB

कुछ फासले तुम भी तो मिटाओ….
हम तुम तक आएं भी तो कहा तक आएं !!
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

ये जो खामोश से …

ये जो खामोश से अल्फाज़ लिखेे हैं ना,
पढना कभी ध्यान से चीखते कमाल हैं…★Rv

ये जो खामोश से अल्फाज़ लिखेे हैं ना,
पढना कभी ध्यान से चीखते कमाल हैं…★Rv

Posted by | View Post | View Group

मेरी ज़िन्दगी में …

मेरी ज़िन्दगी में या रब ये कैसी शाम आई
ना दवा ही काम आई, ना दुआ ही काम आई
.
SHoaiB

मेरी ज़िन्दगी में या रब ये कैसी शाम आई
ना दवा ही काम आई, ना दुआ ही काम आई
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group