सामने होते हुए भी …

सामने होते हुए भी तुझसे दूर रहना…
तेरे शहर में इससे बड़ी बदनसीबी की बात क्या होगी।
#keval_______patel

सामने होते हुए भी तुझसे दूर रहना…
तेरे शहर में इससे बड़ी बदनसीबी की बात क्या होगी।
#keval_______patel

Posted by | View Post | View Group

क्यों सही कहा न …

क्यों सही कहा न दोस्तों..
ऋषि…

क्यों सही कहा न दोस्तों..
ऋषि…

Posted by | View Post | View Group

इतने भी खामोश …

इतने भी खामोश क्यों बैठे हो दोस्तों…
इलेक्शन खत्म हुई है मोहब्बत में बर्बादी तो अब भी जारी है
.
SHoaiB

इतने भी खामोश क्यों बैठे हो दोस्तों…
इलेक्शन खत्म हुई है मोहब्बत में बर्बादी तो अब भी जारी है
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

बड़े घर की लड़की थी …

बड़े घर की लड़की थी साहेब,
छोटे से दिल में कैसे रहती..!!
.
SHoaiB

बड़े घर की लड़की थी साहेब,
छोटे से दिल में कैसे रहती..!!
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

मुझे ढूंढने की …

मुझे ढूंढने की कोशिश अब न किया कर…

तूने रास्ता बदला तो मैंने मंज़िल बदल ली…★Rv

मुझे ढूंढने की कोशिश अब न किया कर…

तूने रास्ता बदला तो मैंने मंज़िल बदल ली…★Rv

Posted by | View Post | View Group

हालात कह रहे है हम …

हालात कह रहे है हम नहीं मिल सकेंगे.
उम्मीद कह रही जरा और इंतज़ार कर…
.
SHoaiB

हालात कह रहे है हम नहीं मिल सकेंगे.
उम्मीद कह रही जरा और इंतज़ार कर…
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

शायराना सी हैं …

Posted by | View Post | View Group

ख़ुश-नसीबी में है …

ख़ुश-नसीबी में है यही इक ऐब
बद-नसीबों के घर नहीं आती !!
.
SHoaiB

ख़ुश-नसीबी में है यही इक ऐब
बद-नसीबों के घर नहीं आती !!
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

*चुभता तो बहुत कुछ …

*चुभता तो बहुत कुछ मुझको भी है तीर की तरह…!!!*

*मगर ख़ामोश रहता हूँ, अपनी तक़दीर की तरह… :))

#ऋषि

*चुभता तो बहुत कुछ मुझको भी है तीर की तरह…!!!*

*मगर ख़ामोश रहता हूँ, अपनी तक़दीर की तरह… :))

#ऋषि

Posted by | View Post | View Group

*मेरे लफ्जों को वह …

*मेरे लफ्जों को वह तासीर दे मौला,*

*लोग वाह-वाह ना करें,.. परवाह करें*

#ऋषि की शायरी

*मेरे लफ्जों को वह तासीर दे मौला,*

*लोग वाह-वाह ना करें,.. परवाह करें*

#ऋषि की शायरी

Posted by | View Post | View Group