कौन से लफ्ज़ में …

कौन से लफ्ज़ में मैं दर्द की सदा लिखूं….!!!

किस तरह मैं अपने ही दिल को बेवफा लिखूं…☆Rv

कौन से लफ्ज़ में मैं दर्द की सदा लिखूं….!!!

किस तरह मैं अपने ही दिल को बेवफा लिखूं…☆Rv

Posted by | View Post | View Group

वे दिल्ली की रहने …

वे दिल्ली की रहने वालीं, मैं ठहरा देहाती धुर्रा,
उनके कमरे में जाता हूं, देखें मुझको घुर्रा-घुर्रा
~काका हाथरसी
Padmashri Kaka Hathrasi

वे दिल्ली की रहने वालीं, मैं ठहरा देहाती धुर्रा,
उनके कमरे में जाता हूं, देखें मुझको घुर्रा-घुर्रा
~काका हाथरसी
Padmashri Kaka Hathrasi

Posted by | View Post | View Group

सस्ते में लूट लेती …

सस्ते में लूट लेती है अक्सर ये दुनिया उन्हें जिन्हें अपनी कीमत का अंदाज़ा नहीं होता..😎

सस्ते में लूट लेती है अक्सर ये दुनिया उन्हें जिन्हें अपनी कीमत का अंदाज़ा नहीं होता..😎

Posted by | View Post | View Group

इक आवारा मिज़ाज को …

इक आवारा मिज़ाज को भी क़ैदी बना देता है ये इश्क़,

जिसने किया वो ही जानता है क्या से क्या बना देता है ये इश्क़..😎

इक आवारा मिज़ाज को भी क़ैदी बना देता है ये इश्क़,

जिसने किया वो ही जानता है क्या से क्या बना देता है ये इश्क़..😎

Posted by | View Post | View Group

कोई भी रिश्ता …

कोई भी रिश्ता हमेशा के लिए नहीं रहता..
ये मुझे छोड़ कर जाने वाले ने सिखाया है…!!
.
SHoaiB

कोई भी रिश्ता हमेशा के लिए नहीं रहता..
ये मुझे छोड़ कर जाने वाले ने सिखाया है…!!
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

कैसी हो? इतना तो पूछ …

कैसी हो? इतना तो पूछ सकता हूँ
ये बात तो इश्क़ में नहीं आती न ??
.
SHoaiB

कैसी हो? इतना तो पूछ सकता हूँ
ये बात तो इश्क़ में नहीं आती न ??
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

कुछ चेहरों का अपनी …

कुछ चेहरों का अपनी नोटिफिकेशन में दिख जाना
वाकई खुशनुमा एहसास दे जाता है ..!😊
.
SHoaiB

कुछ चेहरों का अपनी नोटिफिकेशन में दिख जाना
वाकई खुशनुमा एहसास दे जाता है ..!😊
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

मुझको तो वहाँ छोड़ …

मुझको तो वहाँ छोड़ गए तुम
खुद को ही जहाँ छोड़ गए तुम।

बिस्तर ,बगीचा ,आँगन ,खिड़की
खुद को और कहाँ छोड़ गए तुम।

चिरागों से गहरा है नाता तुम्हारा
मेरे लिए तो धुआँ छोड़ गए तुम।

किरदार तो मुझको निभाना पड़ेगा
इक प्यासा कुआँ छोड़ गए तुम।

इन दीवारों को ही घर कहता था
इक खाली सा मकाँ छोड़ गए तुम।

#नीलाभ

मुझको तो वहाँ छोड़ गए तुम
खुद को ही जहाँ छोड़ गए तुम।

बिस्तर ,बगीचा ,आँगन ,खिड़की
खुद को और कहाँ छोड़ गए तुम।

चिरागों से गहरा है नाता तुम्हारा
मेरे लिए तो धुआँ छोड़ गए तुम।

किरदार तो मुझको निभाना पड़ेगा
इक प्यासा कुआँ छोड़ गए तुम।

इन दीवारों को ही घर कहता था
इक खाली सा मकाँ छोड़ गए तुम।

#नीलाभ

Posted by | View Post | View Group

मैं पोस्ट करूँ भी …

मैं पोस्ट करूँ भी तो किसके लिए….
पढ़ कर हल्की सी स्माइल करने वाली है ही नहीं कोई।
.
SHoaiB

मैं पोस्ट करूँ भी तो किसके लिए….
पढ़ कर हल्की सी स्माइल करने वाली है ही नहीं कोई।
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

क्या हुआ जो मेरा मन …

क्या हुआ जो मेरा मन कभी ऊबता है
ये सूरज भी तो हर शाम को डूबता है।

#नीलाभ

क्या हुआ जो मेरा मन कभी ऊबता है
ये सूरज भी तो हर शाम को डूबता है।

#नीलाभ

Posted by | View Post | View Group