Patthar

लोग मुन्तज़िर ही रहे कि हमें टूटा हुआ देखें..
और हम थे कि सहते-सहते पत्थर के हो गए….

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Khwab

तुझे ख्वाबो में पा कर दिल का करार खो ही जाता है,
मैं जितना रोकूँ खुद को तुझसे प्यार हो ही जाता है…

 

Posted by | View Post | View Group

Bewafa

मेरी वफा फरेब थी, मेरी वफा पे खाक डाल ।
तुझसा ही कोई बावफा, तुझको मिले खुदा करे।।

Posted by | View Post | View Group

Aankhe

जाने क्यों डूब जाता हूँ हर बार इन्हें देख कर,
जाने इक लहर है या पूरा समंदर है तेरी आँखें….

 

Posted by | View Post | View Group