आपको इश्क के …

आपको इश्क के इज़हार से डर लगता है
और हमें आपके इनकार से डर लगता है

मेरे मासूम से बच्चे की आँख में आँसू
ऐ ग़रीबी हमें त्यौहार से डर लगता है

माँ मुझे अपने ही आँचल में छुपाये रखना
ढाल को कब किसी तलवार से डर लगता है

ये ही लूटेगा हमें जाके किसी कोने में
हमको इस काफ़िला सालार से डर लगता है

अब ग़ज़ल में किसी मुफलिस की कहानी कहिये
आँख से, ज़ुल्फ़ से, रुखसार से डर लगता है

ऐ सफीने तेरा अब कौन मुहाफ़िज़ होगा
जब तुझे अपनी ही पतवार से डर लगता है

खुद बना देते हैं नेता इन्हें हम लोग यहाँ
और कहते हैं कि सरकार से डर लगता है

मै नहीं डरता ‘मनु’ अपने किसी दुश्मन से
बस मुझे अपने किसी यार से डर लगता है

#मनु_भारद्वाज

आपको इश्क के इज़हार से डर लगता है
और हमें आपके इनकार से डर लगता है

मेरे मासूम से बच्चे की आँख में आँसू
ऐ ग़रीबी हमें त्यौहार से डर लगता है

माँ मुझे अपने ही आँचल में छुपाये रखना
ढाल को कब किसी तलवार से डर लगता है

ये ही लूटेगा हमें जाके किसी कोने में
हमको इस काफ़िला सालार से डर लगता है

अब ग़ज़ल में किसी मुफलिस की कहानी कहिये
आँख से, ज़ुल्फ़ से, रुखसार से डर लगता है

ऐ सफीने तेरा अब कौन मुहाफ़िज़ होगा
जब तुझे अपनी ही पतवार से डर लगता है

खुद बना देते हैं नेता इन्हें हम लोग यहाँ
और कहते हैं कि सरकार से डर लगता है

मै नहीं डरता ‘मनु’ अपने किसी दुश्मन से
बस मुझे अपने किसी यार से डर लगता है

#मनु_भारद्वाज

Posted by | View Post | View Group

ऐसा नहीं है कि अब …

ऐसा नहीं है कि अब तेरी जुस्तजू नहीं रही,
बस टूट-टूट कर बिखरने की हिम्मत नहीं रही

ऐसा नहीं है कि अब तेरी जुस्तजू नहीं रही,
बस टूट-टूट कर बिखरने की हिम्मत नहीं रही

Posted by | View Post | View Group

यूं न पढ़िए कहीं …

यूं न पढ़िए कहीं कहीं से हमें,
हम इंसान हैं, कोई किताब नही..!!

यूं न पढ़िए कहीं कहीं से हमें,
हम इंसान हैं, कोई किताब नही..!!

Posted by | View Post | View Group

हक़ीक़त रूबरू हो तो …

हक़ीक़त रूबरू हो तो अदाकारी नही चलती,
ख़ुदा के सामने बन्दों की मक्कारी नही चलती…
तुम्हारा दबदबा ख़ाली तुम्हारी ज़िंदगी तक है,
किसी की क़ब्र के अन्दर ज़मींदारी नही चलती..!

हक़ीक़त रूबरू हो तो अदाकारी नही चलती,
ख़ुदा के सामने बन्दों की मक्कारी नही चलती…
तुम्हारा दबदबा ख़ाली तुम्हारी ज़िंदगी तक है,
किसी की क़ब्र के अन्दर ज़मींदारी नही चलती..!

Posted by | View Post | View Group

मोहब्बत की अदालत …

मोहब्बत की अदालत मे इन्साफ कहा होती है
सजा उसी को मिलती है जो बेगुनाह होता हैँ।

मोहब्बत की अदालत मे इन्साफ कहा होती है
सजा उसी को मिलती है जो बेगुनाह होता हैँ।

Posted by | View Post | View Group

बिहार में पूर्ण …

बिहार में पूर्ण शराबबंदी के बाद #हरिवंश जी की कालजयी रचना #मधुशाला की संशोधन के साथ नई प्रस्तुति😊

“फुट चूका जब मधु का प्याला, टूट चुकी जब मधुशाला
मयखाने वीरान हुये अब जहाँ छलकती थी हाला~
दिख रहा ग़मगीन क्लब, जो था मय से मतवाला~
मधुशाला को छोड़ लोग अब मन्दिर-मस्जिद जाते हैं,
मन्दिर-मस्जिद मेल कराते, जेल कराती मधुशाला~😂

बिहार में पूर्ण शराबबंदी के बाद #हरिवंश जी की कालजयी रचना #मधुशाला की संशोधन के साथ नई प्रस्तुति😊

“फुट चूका जब मधु का प्याला, टूट चुकी जब मधुशाला
मयखाने वीरान हुये अब जहाँ छलकती थी हाला~
दिख रहा ग़मगीन क्लब, जो था मय से मतवाला~
मधुशाला को छोड़ लोग अब मन्दिर-मस्जिद जाते हैं,
मन्दिर-मस्जिद मेल कराते, जेल कराती मधुशाला~😂

Posted by | View Post | View Group

उदास दिल है मगर …

उदास दिल है मगर मिलता हूँ हर एक से हँसकर,
यही एक हुनर सीखा है मैंने बहुत कुछ खो देने के बाद..

उदास दिल है मगर मिलता हूँ हर एक से हँसकर,
यही एक हुनर सीखा है मैंने बहुत कुछ खो देने के बाद..

Posted by | View Post | View Group

मेरे दिल से उसकी हर …

मेरे दिल से उसकी हर गलती माफ हो जाती है,
जब वो मुस्कुरा के पुछती है नाराज हो क्या..

मेरे दिल से उसकी हर गलती माफ हो जाती है,
जब वो मुस्कुरा के पुछती है नाराज हो क्या..

Posted by | View Post | View Group

मैं और मेरी तनहाई …

मैं और मेरी तनहाई अक्सर ये बातें करते हैं..
..
कि पेग छोटा बनाऊँ या बड़ा ||
😉😉😀😃😜

मैं और मेरी तनहाई अक्सर ये बातें करते हैं..
..
कि पेग छोटा बनाऊँ या बड़ा ||
😉😉😀😃😜

Posted by | View Post | View Group

खुदा तूने तो लाखो …

खुदा तूने तो लाखो की तक़दीर संवारी है
मुझे दिलासा तो दे की अब मेरी बारी है

खुदा तूने तो लाखो की तक़दीर संवारी है
मुझे दिलासा तो दे की अब मेरी बारी है

Posted by | View Post | View Group