मस्जिद तो हुई …

मस्जिद तो हुई हासिल हमको,
खाली ईमान गंवा बैठे ।
मंदिर को बचाया लड़-भिड़कर,
खाली भगवान गंवा बैठे ।
धरती को हमने नाप लिया,
हम चांद सितारों तक पहुंचे ।
कुल कायनात को जीत लिया,
खाली इन्सान गंवा बैठे ।
मजहब के ठेकेदारों ने..
आज फिर हमे यूँ भड़काया ।
के काजी और पंडित जिन्दा थे,
हम अपनी जान गंवा बैठे ।

मस्जिद तो हुई हासिल हमको,
खाली ईमान गंवा बैठे ।
मंदिर को बचाया लड़-भिड़कर,
खाली भगवान गंवा बैठे ।
धरती को हमने नाप लिया,
हम चांद सितारों तक पहुंचे ।
कुल कायनात को जीत लिया,
खाली इन्सान गंवा बैठे ।
मजहब के ठेकेदारों ने..
आज फिर हमे यूँ भड़काया ।
के काजी और पंडित जिन्दा थे,
हम अपनी जान गंवा बैठे ।

Posted by | View Post | View Group

तुम्हारे शहर में …

तुम्हारे शहर में मय्यत को सब कान्धा नहीं देते
हमारे गांव में छप्पर भी सब मिल कर उठाते हैं

तुम्हारे शहर में मय्यत को सब कान्धा नहीं देते
हमारे गांव में छप्पर भी सब मिल कर उठाते हैं

Posted by | View Post | View Group

आज वो मशहूर हुए, जो …

आज वो मशहूर हुए, जो कभी काबिल ना थे..
मंज़िलें उनको मिली, जो दौड़ में शामिल ना थे.!!

आज वो मशहूर हुए, जो कभी काबिल ना थे..
मंज़िलें उनको मिली, जो दौड़ में शामिल ना थे.!!

Posted by | View Post | View Group

मिलेगा क्या दिलों …

मिलेगा क्या दिलों में नफरतें रख कर…
बड़ी अनमोल है ज़िन्दगी मुस्कुरा के गुजार दो

मिलेगा क्या दिलों में नफरतें रख कर…
बड़ी अनमोल है ज़िन्दगी मुस्कुरा के गुजार दो

Posted by | View Post | View Group

अच्छी सूरत वाले …

अच्छी सूरत वाले सारे पत्थर-दिल हो मुमकिन है
हम तो उस दिन रो देंगे जिस दिन धोखा खायेंगे

Read full ghazal by Nida Fazli Sahab on our website

अच्छी सूरत वाले सारे पत्थर-दिल हो मुमकिन है
हम तो उस दिन रो देंगे जिस दिन धोखा खायेंगे

Read full ghazal by Nida Fazli Sahab on our website

Posted by | View Post | View Group

मुझ सा कोई जहान में …

मुझ सा कोई जहान में नादान भी न हो
कर के जो इश्क़ कहता है नुक़सान भी न हो
#सादुल्लाह_शाह @Rekhta

मुझ सा कोई जहान में नादान भी न हो
कर के जो इश्क़ कहता है नुक़सान भी न हो
#सादुल्लाह_शाह @Rekhta

Posted by | View Post | View Group

हरेक चेहरे को …

हरेक चेहरे को ज़ख़्मों का आइना न कहो,
ये ज़िंदगी तो है रहमत इसे सज़ा न कहो।

न जाने कौन सी मजबूरियों का क़ैदी हो,
वो साथ छोड़ गया है तो बेवफ़ा न कहो।

ये और बात के दुश्मन हुआ है आज मगर,
वो मेरा दोस्त था कल तक, उसे बुरा न कहो।

हमारे ऐब हमें ऊँगलियों पे गिनवाओ,
हमारी पीठ के पीछे हमें बुरा न कहो।

#राहत_इन्दौरी

हरेक चेहरे को ज़ख़्मों का आइना न कहो,
ये ज़िंदगी तो है रहमत इसे सज़ा न कहो।

न जाने कौन सी मजबूरियों का क़ैदी हो,
वो साथ छोड़ गया है तो बेवफ़ा न कहो।

ये और बात के दुश्मन हुआ है आज मगर,
वो मेरा दोस्त था कल तक, उसे बुरा न कहो।

हमारे ऐब हमें ऊँगलियों पे गिनवाओ,
हमारी पीठ के पीछे हमें बुरा न कहो।

#राहत_इन्दौरी

Posted by | View Post | View Group

♥एक लाइन में क्या …

♥एक लाइन में क्या तेरी तारीफ़ लिखू…
पानी भी जो देखे तुझे तो प्यासा हो जाये♥

♥एक लाइन में क्या तेरी तारीफ़ लिखू…
पानी भी जो देखे तुझे तो प्यासा हो जाये♥

Posted by | View Post | View Group

कुछ कर मेरा भी इलाज …

कुछ कर मेरा भी इलाज ए हकीम-ए-मुहब्बत..
हर रात वो याद आती है और मुझसे सोया नही जाता..

कुछ कर मेरा भी इलाज ए हकीम-ए-मुहब्बत..
हर रात वो याद आती है और मुझसे सोया नही जाता..

Posted by | View Post | View Group

उम्र भर की बात …

उम्र भर की बात बिगड़ी इक ज़रा सी बात में..
एक लम्हा ज़िंदगी भर की कमाई खा गया

उम्र भर की बात बिगड़ी इक ज़रा सी बात में..
एक लम्हा ज़िंदगी भर की कमाई खा गया

Posted by | View Post | View Group