Ashiqi

अब क्यों न ज़िन्दगी पे मुहब्बत को वार दें 
इस आशिक़ी में जान से जाना बहुत हुआ 

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Leave a Reply