Talabgaar

एक तू मिल जाती, इतना काफ़ी था,
सारी दुनियाँ के तलबगार नहीं थे हम..!!

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Leave a Reply