Nazar

शाम तक सुबह की नज़रों से उतर जाते हैं,
इतने समझौतों पे जीते हैं कि मर जाते हैं…

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Author: admin

I just love Shayri

Leave a Reply