Zindgi

ज़िन्दगी! तू कोई दरिया है कि सागर है कोई,
मुझको मालूम तो हो कौन से पानी में हूँ मैं ।

Posted by | View Post | View Group

Author: admin

I just love Shayri

Leave a Reply