Wada

मायूस तो हूं वायदे से तेरे, कुछ आस नहीं कुछ आस भी है.
मैं अपने ख्यालों के सदके, तू पास नहीं और पास भी है. 

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Author: admin

I just love Shayri

Leave a Reply