सँवरना ही है,तो …

सँवरना ही है,तो किसी की नज़रों में सँवरीये जनाब….
काँच के आईने से खुद का मिज़ाज पूछा नहीं करते..!!
.
SHoaiB

सँवरना ही है,तो किसी की नज़रों में सँवरीये जनाब….
काँच के आईने से खुद का मिज़ाज पूछा नहीं करते..!!
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group