किसी भी रिश्ते की …

किसी भी रिश्ते की मियाद होती है बस,
वक़्त चुरा कर मिलने से, वक़्त मिले तो मिलने तक!
.
SHoaiB

किसी भी रिश्ते की मियाद होती है बस,
वक़्त चुरा कर मिलने से, वक़्त मिले तो मिलने तक!
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group