कितनी खामोश …

कितनी खामोश मुस्कराहट थी,,
शोर बस आँख की नमी में था..!
.
SHoaiB

Advertisements

कितनी खामोश मुस्कराहट थी,,
शोर बस आँख की नमी में था..!
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group
Advertisements