लव्ज खामोश है,दिल …

लव्ज खामोश है,दिल धड़क रहा है,नजरे झुकी है।
इश्क किया हुं या कोई गुनाह।।

लव्ज खामोश है,दिल धड़क रहा है,नजरे झुकी है।
इश्क किया हुं या कोई गुनाह।।

Posted by | View Post | View Group