Akl ne ek din ye dil se kaha

अक़्ल ने एक दिन ये दिल से कहा

भूले-भटके की रहनुमा हूँ मैं

दिल ने सुनकर कहा-ये सब सच है
पर मुझे भी तो देख क्या हूँ मैं

राज़े-हस्ती को तू समझती है
और आँखों से देखता हूँ मैं

Allama iqbal

Posted by | View Post | View Group

Author: admin

I just love Shayri

Leave a Reply