अपनी आवाज की …

अपनी आवाज की लर्जिश पे तो काबू पा लूँ
प्यार के बोल तो होटों से निकल जाते हैं .
अपने तेवर को सम्भालो की कोई ये ना कहें
दिल बदलते हैं तो चेहरे भी बदल जाते हैं
#Azhan

अपनी आवाज की लर्जिश पे तो काबू पा लूँ
प्यार के बोल तो होटों से निकल जाते हैं .
अपने तेवर को सम्भालो की कोई ये ना कहें
दिल बदलते हैं तो चेहरे भी बदल जाते हैं
#Azhan

Posted by | View Post | View Group