तुम्हारा कौन है वो …

तुम्हारा कौन है वो मुझसे कोई पूछे तो कहूँ
एक मीठा सा प्यारा सा अहसास है वो…

रिश्ता है एक बेनाम, बेमकसद सा उससे,
मासूम खामोश बच्चे सा बहुत खास है वो.

सागर की मौजों पे मचलती चलती नाव में
बैठे शख्स की दो घूँट पानी की प्यास है वो

हज़ारों -लाखों से राब्ता है उसका जहां में,
पर भीड़ मे भी कुछ तन्हा या उदास है वो

सबको भर देता है खुशी और जोश से वो,
पर खुद के अपनो के क़हर से हताश है वो

मेरे करीब आ के भी रखता है दूरी मुझसे,
पर दूर रह के भी रहता है मेरे पास है वो

धड़कन में रहके हरदम दिल मे बसता है
बैचेनी कभी तो कभी चैन की साँस है वो
#राj

तुम्हारा कौन है वो मुझसे कोई पूछे तो कहूँ
एक मीठा सा प्यारा सा अहसास है वो…

रिश्ता है एक बेनाम, बेमकसद सा उससे,
मासूम खामोश बच्चे सा बहुत खास है वो.

सागर की मौजों पे मचलती चलती नाव में
बैठे शख्स की दो घूँट पानी की प्यास है वो

हज़ारों -लाखों से राब्ता है उसका जहां में,
पर भीड़ मे भी कुछ तन्हा या उदास है वो

सबको भर देता है खुशी और जोश से वो,
पर खुद के अपनो के क़हर से हताश है वो

मेरे करीब आ के भी रखता है दूरी मुझसे,
पर दूर रह के भी रहता है मेरे पास है वो

धड़कन में रहके हरदम दिल मे बसता है
बैचेनी कभी तो कभी चैन की साँस है वो
#राj

Posted by | View Post | View Group