*.जिन नैनों में तुम …

*.जिन नैनों में तुम बसे….दूजा कौन समाऐ…*

*धागा हो तो तोड दूं…प्रीत न तोड़ी जाऐ…

#Rishi

Advertisements

*.जिन नैनों में तुम बसे….दूजा कौन समाऐ…*

*धागा हो तो तोड दूं…प्रीत न तोड़ी जाऐ…

#Rishi

Posted by | View Post | View Group
Advertisements