Tumko dekha to ye khyaal aaya

तुमको देखा तो ये ख़याल आया 

ज़िन्दगी धूप तुम घना साया 

आज फिर दिल ने एक तमन्ना की 
आज फिर दिल को हमने समझाया 

तुम चले जाओगे तो सोचेंगे 
हमने क्या खोया, हमने क्या पाया

हम जिसे गुनगुना नहीं सकते 
वक़्त ने ऐसा गीत क्यूँ गाया 

Javed akhtar

Posted by | View Post | View Group

Author: admin

I just love Shayri

Leave a Reply