Pyar mujhse jo kiya tumne to kya paogi

प्यार मुझसे जो किया तुमने तो क्या पाओगी 

मेरे हालात की आंधी में बिखर जाओगी 

रंज और दर्द की बस्ती का मैं बाशिन्दा हूँ 
ये तो बस मैं हूँ के इस हाल में भी ज़िन्दा हूँ 
ख़्वाब क्यूँ देखूँ वो कल जिसपे मैं शर्मिन्दा हूँ 
मैं जो शर्मिन्दा हुआ तुम भी तो शरमाओगी 

क्यूं मेरे साथ कोई और परेशान रहे 
मेरी दुनिया है जो वीरान तो वीरान रहे 
ज़िन्दगी का ये सफ़र तुमको तो आसान रहे 
हमसफ़र मुझको बनाओगी तो पछताओगी 

एक मैं क्या अभी आयेंगे दीवाने कितने 
अभी गूंजेगे मुहब्बत के तराने कितने 
ज़िन्दगी तुमको सुनायेगी फ़साने कितने 
क्यूं समझती हो मुझे भूल नही पाओगी

Javed akhtar

Posted by | View Post | View Group

Author: admin

I just love Shayri

Leave a Reply