Rishta

आँखों से दूर मगर दिल के करीब था,
न वो मेरा न ही मैं उसका नसीब था,
न कभी मिला न ही जुदा हुआ,
रिश्ता हम दोनों का कितना अजीब था!

Posted by | View Post | View Group
Advertisements

Author: admin

I just love Shayri

Leave a Reply