पेड़ तले गिलहरी हो …

पेड़ तले गिलहरी हो तो अच्छा लगता है
आंगन में जो बेटी हो तो अच्छा लगता है।

लाज ,हया,चूड़ी,पायल ये सब तो ठीक हैं
थोड़ा जो बहकती हो तो अच्छा लगता है।

कभी कभी बाग में खेलो सँग गुलाब के
उनके सँग महकती हो तो अच्छा लगता है।

अपनी आँखों से यूँ बहने न दूँगा तुमको
पलकों पे ठहरती हो तो अच्छा लगता है।

वैसे तो आँखें मेरी सब कुछ सुन लेती हैं
जुबाँ से जो कहती हो तो अच्छा लगता है।

तुम रात का चाँद हो, मैं सुबह का आसमाँ
बाहों में जो ढलती हो तो अच्छा लगता है।
#नीलाभ

पेड़ तले गिलहरी हो तो अच्छा लगता है
आंगन में जो बेटी हो तो अच्छा लगता है।

लाज ,हया,चूड़ी,पायल ये सब तो ठीक हैं
थोड़ा जो बहकती हो तो अच्छा लगता है।

कभी कभी बाग में खेलो सँग गुलाब के
उनके सँग महकती हो तो अच्छा लगता है।

अपनी आँखों से यूँ बहने न दूँगा तुमको
पलकों पे ठहरती हो तो अच्छा लगता है।

वैसे तो आँखें मेरी सब कुछ सुन लेती हैं
जुबाँ से जो कहती हो तो अच्छा लगता है।

तुम रात का चाँद हो, मैं सुबह का आसमाँ
बाहों में जो ढलती हो तो अच्छा लगता है।
#नीलाभ

Posted by | View Post | View Group

अपनी चिंगारी पर …

अपनी चिंगारी पर डाल दो पानी समय रहते,
वर्ना आग को अच्छी हवा देते हैं लोग।

ढूंढता है पहले बांटने से सगा अपना,
रेवड़ी अंधों के हाथ थमा देते हैं लोग।

मुर्गे की जान की कीमत क्या खबर किसको,
यहां सिर्फ स्वादों का पता देते हैं लोग।

समझते खुद को हैं शेर मगर,
जब-तब गधे को बाप बना लेते हैं लोग..😎
#श्रीमती_गिरिजा_अरोड़ा

अपनी चिंगारी पर डाल दो पानी समय रहते,
वर्ना आग को अच्छी हवा देते हैं लोग।

ढूंढता है पहले बांटने से सगा अपना,
रेवड़ी अंधों के हाथ थमा देते हैं लोग।

मुर्गे की जान की कीमत क्या खबर किसको,
यहां सिर्फ स्वादों का पता देते हैं लोग।

समझते खुद को हैं शेर मगर,
जब-तब गधे को बाप बना लेते हैं लोग..😎
#श्रीमती_गिरिजा_अरोड़ा

Posted by | View Post | View Group

दिन लाद लिया है पीठ …

दिन लाद लिया है पीठ पर,,,
अब इसको ठिकाने लगा के लौटेंगे…!!
.
SHoaiB

दिन लाद लिया है पीठ पर,,,
अब इसको ठिकाने लगा के लौटेंगे…!!
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

अटल जी की प्रसिद्ध …

अटल जी की प्रसिद्ध कविता।

ठन गई!
मौत से ठन गई!

जूझने का मेरा इरादा न था,
मोड़ पर मिलेंगे इसका वादा न था,

रास्ता रोक कर वह खड़ी हो गई,
यों लगा ज़िन्दगी से बड़ी हो गई।

मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं,
ज़िन्दगी सिलसिला, आज कल की नहीं।

मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूँ,
लौटकर आऊँगा, कूच से क्यों डरूँ?

तू दबे पाँव, चोरी-छिपे से न आ,
सामने वार कर फिर मुझे आज़मा।

मौत से बेख़बर, ज़िन्दगी का सफ़र,
शाम हर सुरमई, रात बंसी का स्वर।

बात ऐसी नहीं कि कोई ग़म ही नहीं,
दर्द अपने-पराए कुछ कम भी नहीं।

प्यार इतना परायों से मुझको मिला,
न अपनों से बाक़ी हैं कोई गिला।

हर चुनौती से दो हाथ मैंने किये,
आंधियों में जलाए हैं बुझते दिए।

आज झकझोरता तेज़ तूफ़ान है,
नाव भँवरों की बाँहों में मेहमान है।

पार पाने का क़ायम मगर हौसला,
देख तेवर तूफ़ाँ का, तेवरी तन गई।

मौत से ठन गई।

अटल जी की प्रसिद्ध कविता।

ठन गई!
मौत से ठन गई!

जूझने का मेरा इरादा न था,
मोड़ पर मिलेंगे इसका वादा न था,

रास्ता रोक कर वह खड़ी हो गई,
यों लगा ज़िन्दगी से बड़ी हो गई।

मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं,
ज़िन्दगी सिलसिला, आज कल की नहीं।

मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूँ,
लौटकर आऊँगा, कूच से क्यों डरूँ?

तू दबे पाँव, चोरी-छिपे से न आ,
सामने वार कर फिर मुझे आज़मा।

मौत से बेख़बर, ज़िन्दगी का सफ़र,
शाम हर सुरमई, रात बंसी का स्वर।

बात ऐसी नहीं कि कोई ग़म ही नहीं,
दर्द अपने-पराए कुछ कम भी नहीं।

प्यार इतना परायों से मुझको मिला,
न अपनों से बाक़ी हैं कोई गिला।

हर चुनौती से दो हाथ मैंने किये,
आंधियों में जलाए हैं बुझते दिए।

आज झकझोरता तेज़ तूफ़ान है,
नाव भँवरों की बाँहों में मेहमान है।

पार पाने का क़ायम मगर हौसला,
देख तेवर तूफ़ाँ का, तेवरी तन गई।

मौत से ठन गई।

Posted by | View Post | View Group

इश्क क्या है? एक …

इश्क क्या है? एक झूठे ख्वाबों का समन्दर…!!!

धीरे-धीरे इसके खारे होने का पता चल ही जाता है…★Rv

इश्क क्या है? एक झूठे ख्वाबों का समन्दर…!!!

धीरे-धीरे इसके खारे होने का पता चल ही जाता है…★Rv

Posted by | View Post | View Group

उनको भी आजादी …

उनको भी आजादी मुबारक,
जो अपनी गंदी सोच के गुलाम है..😎

उनको भी आजादी मुबारक,
जो अपनी गंदी सोच के गुलाम है..😎

Posted by | View Post | View Group

ताल्लुक खत्म करने …

ताल्लुक खत्म करने का अख्तियार था उनको …
पर वो जो बना रहे थे वो बहाने अजीब थे….
#keval_______patel

ताल्लुक खत्म करने का अख्तियार था उनको …
पर वो जो बना रहे थे वो बहाने अजीब थे….
#keval_______patel

Posted by | View Post | View Group

दिल तो चाहता है …

दिल तो चाहता है तुझे इस 15अगस्त 🇳🇪पे आजाद कर दूँ ,
पर क्या करूँ ?? तेरी हरकतें तो आजीवन कारावास वाली है😍
.
SHoaiB

दिल तो चाहता है तुझे इस 15अगस्त 🇳🇪पे आजाद कर दूँ ,
पर क्या करूँ ?? तेरी हरकतें तो आजीवन कारावास वाली है😍
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group

दोस्तो हम इस पेज को …

दोस्तो हम इस पेज को मौलिक लेखको के लिए एक प्लेटफार्म की तरह देना चाहते है। कोई भी लेखक/ कवि / शायर अपनी रचना को हमारे पेज के द्वारा 4 लाख पाठको तक पहुँचा सकता है। आज से हमारे पेज पर सिर्फ मौलिक रचनाये ही डाली जाएगी। सभी एडिटर्स से अनुरोध है कि कोई भी कॉपी/ पेस्ट की रचना ना डाले बल्कि सिर्फ अपनी या किसी लेखक की मौलिक रचना उनके नाम के साथ ही डाले।

Admin

दोस्तो हम इस पेज को मौलिक लेखको के लिए एक प्लेटफार्म की तरह देना चाहते है। कोई भी लेखक/ कवि / शायर अपनी रचना को हमारे पेज के द्वारा 4 लाख पाठको तक पहुँचा सकता है। आज से हमारे पेज पर सिर्फ मौलिक रचनाये ही डाली जाएगी। सभी एडिटर्स से अनुरोध है कि कोई भी कॉपी/ पेस्ट की रचना ना डाले बल्कि सिर्फ अपनी या किसी लेखक की मौलिक रचना उनके नाम के साथ ही डाले।

Admin

Posted by | View Post | View Group

तिरंगा सँभालने कि …

तिरंगा सँभालने कि औकात ना हो तो 15 अगस्त को तिरंगा ना खरिदीये
क्यूँ कि 16 अगस्त को तिरंगा रोड पर अच्छा नहीं लगता
🙏
15 अगस्त कि हार्दिक बधाई सभी दोस्तो को ।।
.
SHoaiB

तिरंगा सँभालने कि औकात ना हो तो 15 अगस्त को तिरंगा ना खरिदीये
क्यूँ कि 16 अगस्त को तिरंगा रोड पर अच्छा नहीं लगता
🙏
15 अगस्त कि हार्दिक बधाई सभी दोस्तो को ।।
.
SHoaiB

Posted by | View Post | View Group